प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना – 2022 | Sukanya Samriddhi yojana in Hindi | Details, Calculator (ssy scheme)


सुकन्‍या समृद्धि योजना

आज हम इस लेख के जरिए Sukanya Samriddhi yojana के बारे मे विस्तार से जानेगे ओर इसके साथ ही Sukanya Samriddhi yojana से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी के बारे मे जानेगे

हमारे देश में बेटे और बेटियों में भेद भाव किया जाता हैं हमारे देश मे बेटियों को एक बोझ की तरह समझा जाता है और हमारे देश में माता पिता अपनी बेटियो की पढ़ाई लिखाई में पैसा खर्च नही करना चाहते उन्हें सिर्फ उनके विवाह की चिंता रहती हैं उनकी इसी समस्या को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने इस योजना का निर्माण किया है।

सुकन्या समृद्धि योजना के प्रमुख नियम और शर्तें| major rules of Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना 2022

सुकन्या समृद्धि योजना हेतु प्रीमियम राशि की गणना कैसे करें

सुकन्या समृद्धि योजना में पैसा कैसे जमा करें

सुकन्या योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज

सुकन्या समृद्धि योजना कहाँ से करवाए

sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) क्या हैसुकन्या समृद्धि योजना [Update] Sukanya Samriddhi Yojana
सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों को सहयोग देने के लाई गई प्रमुख योजनाओं में से एक है। वर्तमान में सरकार ने इसके कई प्रावधानों में तब्दीलियां करते हुए पांच बड़े बदलाव किए हैं।

पहले लाभ लेने वाला परिवार केवल दो बेटियों के नाम पर खाता खोल कर 80 C के अंतर्गत टैक्स से छूट पा सकता था। लेकिन अब ये प्रावधान तीन बेटियों के लिए भी लागू होगा। साथ ही जुड़वां बेटियो के लिए भी अकाउंट खोला जा सकेगा।

दूसरा अहम बदलाव ये किया गया है कि अब ढाई सौ रुपए की मिनिमम राशि जमा नहीं होने पर अकाउंट को दोबारा एक्टिव करवाने की झंझट नहीं उठानी होगी। राशि की मैच्योरिटी होने तक ब्याज का लाभ दिया जाएगा।

पहले दस साल की उम्र में ही बेटी अकाउंट को स्वयं ऑपरेट कर सकती थी, पर अब ऐसा करने के लिए अठारह की उम्र अनिवार्य है।
एक राहत भरा बदलाव ये भी हुआ है कि अब गलत ब्याज क्रेडिट होने पर इसे वापिस नहीं लिया जाएगा।
पहले बेटी की असमय मृत्यु से अकाउंट बंद भी हो जाता था। पर इसमें भी अब बदलाव किए जाएंगे इस योजना का उद्देश्य हमारे भारत देश की बेटियो के भविष्यो को उज्जवल और सुरक्षित बनाता है

जिससे हमारे देश कि बेटियो का भविष्य सुरक्षित और उज्जवल हो जाए इसीलिए भारत सरकार ने sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) आरंभ किया है। इस योजना का लाभ केवल उन लड़कियों को ही प्राप्त होगा जिनका जन्म भारत मे हुआ है और जो सदा भारत मे ही रहने वाले है . जो भारत के बहार रहने वाले या एनआरआई है वो इस योजना का लाभ नही ले सकते है.

sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) पैसे कैसे जमा करवाएं

sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) पैसे कैसे जमा करे-

sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) का लाभ आप दो प्रकार से ले सकते है
sukanya samriddhi yojana bank बैंक
Sukanya samriddhi yojana post office पोस्टऑफिस सुकन्या समृद्धि योजना में आप पैसे बैंक अथवा जिस पोस्ट ऑफिस में अकाउंट है जिसमें अकाउंट है पैसे केश,चेकबुक,यदि वहा ऑनलाइन पेमेंट फेसल्टी है तो आप ऑनलाइन भी पैसे जमा कर सकते है।

सुकन्या समृद्धि अकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज | Required Documents for opening Sukanya Samriddhi Account

sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) के लिए ये सभी जरूरी डॉक्यूमेंट होने चाहिए –

  • Sukanya samriddhi yojana के तहत खाता खोले के लिए लड़की का जन्म प्रमाण पत्र होना जरूरी है।
  • sukanya samriddhi yojana के लिए माता या पिता का पहचान पत्र होना जरूरी हैं।
  • sukanya samriddhi yojana के लिए माता या पिता का स्थाई गांव निवास प्रमाण पत्र होना जरूरी हैं।
  • sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) खाताधारक का यानि आपकी बेटी का एक फोटो होना चाहिए
  • sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) का खाताधारक हमारे भारत का ही होना चाहिए।

sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) की विशेषताएं

8.5% का खाता धारक को सरकार द्वारा ब्याज दिया गया है वित्त मंत्रालय दौरा समय समय पर इसमें बदलाव भी किए गए है। सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में बेटी के नाम से एक साल में 1 हजार से लेकर 1 लाख पचास हजार रुपए जमा कर सकते है।
यह पैसा अकाउंट खुलने के 14 साल तक ही जमा करवाना होगा और यह खाता बेटी के 21 साल की होने पर ही मैच्योर होगा।योजना के नियमों के अंतर्गत बेटी के 18 साल के होने पर आधा पैसा निकलवा सकते हैं।

21 साल के बाद खाता बंद हो जाएगा और पैसा पालक को मिल जाएगा।
अगर बेटी की 18 से 21 साल के बीच शादी हो जाती है तो अकांउट उसी वक्त बंद हो जाएगा।
एक वर्ष में खाता धारक अधिक 1.5 लाख रुपए ही जमा कर सकता है ज्यादा नहीं।
एक वर्ष में खाता धारक न्यूनतम 1 हजार रुपए जमा कर सकता है। इससे कम नहीं।
खाता खोलने की तिथि से लेकर खाता धारक अगले 14 साल तक अपने अकाउंट में पैसे जमा करा सकता है।
खाता खोलने की तिथि से 21 साल बाद खाता धारक का अकाउंट परिपक्व हो जाता है इसके बाद खाता धारक को कोई लाभ नहीं दिया जाता इसलिए आप चाहे तो अपने पैसे निकाल सकते है

यदि खाता खुलने के 21 वर्ष पहले ही यदि बेटी की शादी हो गए तब भी आप इस खाते से अपने संपूर्ण पैसे निकाल सकते है एवम खाता बंद कर सकते है क्योंकि बेटी की शादी के बाद आपको कोई भी लाभ नही दिया जाता है।
बेटी की उम्र 18 साल पूरी होने पर उसकी हायर एजुकेशन के लिए आप अपने खाते में से 50% पैसे निकाल सकते है ।जैसे आपके खाते में 500000 रुपए है तब आप बेटी की पढ़ाई के 250000 रुपए sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) के तहत अपने खाते से निकल सकते है

पैसे निकालने का नियम : (Withdraw Option)

Sukanya Samriddhi yojana : इस योजना के तहत इसमें जमा कि गई पूरी राशि या (कुल रूपये )और लगाया गया ब्याज दोनो तभ ही ले सकते है जब इस योजना का 21 वर्ष का परिपक्वता का कार्यकाल पूर्ण हो गया हो या फिर कन्या की आयु 18 वर्ष से अधिक हो गई हो और उसका विवाह किया जा रहा हो sukanya samriddhi yojana (सुकन्या समृद्धि योजना) में सरकार (धारा 80सी) के तहत प्राप्त आय को कर से मुक्त करती है मतलब आपको इस योजना से प्राप्त लाभ के लिए सरकार को किसी भी प्रकार का कर (टेक्स) देने की आवश्कता नही पड़ती है।

सुकन्या समृद्धि खाता स्थानांतरण सुविधा: (Transfer Options)

सुकन्या समृद्धि खाता स्थानांतरण सुविधा के तहत जिन माता पिता ने सुकन्या समृद्धि योजना मे खाता खुलवाया है वो सुकन्या समृद्धि खाते को 28 बैंको की सूचि या पोस्ट ऑफिस की किसी भी ब्रांच मे बदली करा सकते है. सरकार की इस सुविधा के अनुसार आप अपने Sukanya Samriddhi yojana खाते को देश में किसी भी बैंक से पोस्ट ऑफिस या फिर पोस्ट ऑफिस से बैंक मे बदली करा सकते है

सुकन्या समृद्धि योजना टोल फ्री नंबर Sukanya Samriddhi yojana toll free number

Sukanya Samriddhi yojana toll free number-18002666868 सुकन्या समृद्धि योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए इस टोल फ्री नंबर कॉल कर सकते है


Leave a Comment