Share Market Kya Hota Hai ( शेयर मार्केट क्या है? बच्चों की भाषा में समझें 2024)

क्या आप जानना चाहते हैं कि Share Market Kya Hota Hai (शेयर मार्केट क्या होता है? ) यह ब्लॉग पोस्ट उन लोगों के लिए एकदम सही है जो शेयर मार्केट के बारे में जानना चाहते हैं। यह ब्लॉग पोस्ट आप को शेयर मार्केट के बारे में सिखाने के लिए लिखी गई है। जिसमे हम शेयर मार्केट, शेयर, निवेश, पोर्टफोलियो, विविधीकरण, जोखिम, लाभ आदि सभी के बारे मे जानेगे।

इस ब्लॉग पोस्ट में, हम शेयर मार्केट के बारे में बच्चों की भाषा में बात करेंगे। हम शेयरों, शेयर मार्केट के काम करने के तरीके और शेयर मार्केट में निवेश करने के तरीके के बारे में जानेंगे। हम शेयर मार्केट में निवेश करने के लाभों और जोखिमों पर भी चर्चा करेंगे।

Table of Contents

Share Market Kya Hota Hai (What is Share Market in Hindi)

शेयर बाजार का मतलब: शेयर बाजार एक ऐसा बाजार होता है जहाँ लोग विभिन्न कंपनियों के शेयरों को खरीद और बेच सकते हैं। ये शेयर कंपनियों को अपनी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए धन जुटाने में मदद करते हैं और जो लोग उस कंपनी मे निवेश करते है कंपनी उनको अपने मालिकाना हक मे से एक हिस्सा उन लोगों को देती हैं।

शेयर मार्केट कैसे काम करता है (How Stock Market Works in Hindi)

शेयर मार्केट एक ऐसा बाजार है जहां लोग शेयर खरीदते और बेचते हैं। शेयर एक कंपनी का एक छोटा हिस्सा होते हैं। जब आप एक कंपनी के शेयर खरीदते हैं, तो आप उस कंपनी के मालिक बन जाते हैं।

शेयर मार्केट दो तरह से काम करता है

types of share market (शेयर बाजार के प्रकार)

शेयर बाजार : शेयर बाजार को प्रमुख दो भागों मे विभाजित किया है – प्राथमिक बाजार और द्वितीयक बाजार

प्राथमिक बाजार : प्राथमिक बाजार वह स्थान होता है जहाँ कंपनियाँ पहली बार अपने शेयरों को जनता को बेचती हैं। इसे आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) Intial public offering के रूप में भी जाना जाता है निवेशकों के लिए एक एक अच्छा अवसर होता है क्योंकि वे कंपनी के मालिक बन सकते हैं और कंपनी के विकास से लाभ कमा सकते हैं

द्वितीयक बाजार: द्वितीयक बाजार वह स्थान है जहाँ पहले से जारी किए हुए शेयरों का कारोबार होता है। लोग (निवेशक) एक दूसरे से शेयरों की कीमतों में बदलाव के आधार पर कंपनियों मे निवेश करते हैं और लाभ कमाते हैं। द्वितीयक बाजार आमतौर पर Stock exchange , internet Plateform and stock broker के माध्यम से संचालित होता है।

Major player of share market ( शेयर बाजार के प्रमुख खिलाड़ी )

  • निवेशक: वे व्यक्ति या संस्थान होते हैं जो अपने पैसे को स्टॉक, बॉन्ड, म्यूचुअल फंड आदि में निवेश करके लाभ कमाने का प्रयास करते हैं।
  • दलाल: दलाल या ब्रोकर्स शेयर बाजार में निवेशकों के लिए बीच का काम करते हैं। वे निवेशकों के लिए शेयर खरीदते और बेचते हैं। दलालों को निवेशकों को सही मार्गदर्शन प्रदान करना चाहिए और उन्हें वित्तीय निर्णय लेने में मदद करनी चाहिए।
  • स्टॉक एक्सचेंज: स्टॉक एक्सचेंज वह स्थान है जहां शेयरों की खरीद और बिक्री होती है। भारत में, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज हैं।
  • नियामक: शेयर बाजार की निगरानी करने वाले संगठन होते हैं, जैसे कि सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) भारत में। इनका मुख्य काम शेयर बाजार में निवेशकों की सुरक्षा और वित्तीय प्रणाली की सफाई की देखभाल करना होता है।

शेयर बाजार के उपकरण

 STOCK MARKET TOOLS (शेयर बाजार के उपकरण)

  • स्टॉक: ये कंपनियों के मालिक होने के अधिकार होते हैं। निवेशक स्टॉक खरीदकर कंपनी के लाभ में हिस्सेदारी ले सकते हैं।
  • बॉन्ड: ये कंपनियों या सरकारों द्वारा जारी किए गए ऋण होते हैं। निवेशक बॉन्ड खरीदकर कंपनी या सरकार को पैसा उधार देते हैं और बदले में ब्याज प्राप्त करते हैं।
  • म्यूचुअल फंड: ये निवेशकों के पैसे को एक साथ इकट्ठा करते हैं और उन्हें विभिन्न प्रकार की परिसंपत्तियों में निवेश करते हैं। म्यूचुअल फंड निवेशकों को विविधीकरण और पेशेवर प्रबंधन प्रदान करते हैं।
  • डेरिवेटिव्स: ये वित्तीय अनुबंध हैं जिनका मूल्य किसी अन्य परिसंपत्ति के मूल्य पर निर्भर करता है। डेरिवेटिव्स का उपयोग जोखिम को कम करने या लाभ कमाने के लिए किया जाता है।

शेयर बाजार का सूचकांक

स्टॉक मार्केट सूचकांक एक संख्या होती है जो शेयर बाजार की स्थिति का प्रतिनिधित्व करती है। यह शेयर बाजार में निवेशकों की भावनाओं और उम्मीदों को मापने में मदद करता है। भारत में, सेंसेक्स और निफ्टी दो सबसे लोकप्रिय स्टॉक मार्केट सूचकांक हैं।

शेयर बाजार के फ़ायदे

शेयर बाजार के कई फायदे हैं। शेयर बाजार में निवेश करने से निवेशकों को निम्नलिखित लाभ हो सकते हैं:

शेयर बाजार, निवेशकों को अपनी संपत्ति बढ़ाने का एक शानदार अवसर प्रदान करता है। यह एक ऐसा मंच है जहाँ कंपनियां अपनी पूंजी जुटाने के लिए शेयर जारी करती हैं, और निवेशक इन शेयरों को खरीदकर कंपनी के स्वामित्व का हिस्सा बन जाते हैं। शेयर बाजार में निवेश करने के कई फायदे हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • उच्च रिटर्न: शेयर बाजार में निवेश करने से आपको उच्च रिटर्न प्राप्त करने की संभावना होती है। शेयरों की कीमतें समय के साथ बढ़ती और घटती रहती हैं, जिससे निवेशकों को मुनाफा कमाने का अवसर मिलता है।
  • कंपनियों में भागीदारी: शेयर बाजार में निवेश करके आप अपनी पसंदीदा कंपनियों में भागीदार बन सकते हैं। जब कंपनियां अच्छा प्रदर्शन करती हैं, तो आपके शेयरों की कीमतें बढ़ती हैं, और आपको लाभ होता है।
  • पूंजी में विविधता: शेयर बाजार में निवेश करके आप अपनी पूंजी में विविधता ला सकते हैं। विभिन्न क्षेत्रों और उद्योगों की कंपनियों में निवेश करके आप अपने जोखिम को कम कर सकते हैं।
  • तरलता: शेयर बाजार में शेयरों की तरलता बहुत अधिक होती है। आप आसानी से शेयर खरीद और बेच सकते हैं।
  • निष्क्रिय आय: शेयर बाजार में निवेश करके आप निष्क्रिय आय प्राप्त कर सकते हैं। जब कंपनियां लाभांश घोषित करती हैं, तो आपको लाभांश के रूप में आय प्राप्त होती है।
  • शिक्षा और अनुभव: शेयर बाजार में निवेश करके आप अर्थव्यवस्था और व्यापार के बारे में बहुत कुछ सीख सकते हैं। यह आपको एक बेहतर वित्तीय व्यक्ति बनने में मदद कर सकता है।
  • लंबी अवधि के लिए: शेयर बाजार में निवेश एक लंबी अवधि का खेल है। यदि आप धैर्य रखते हैं और सही निवेश करते हैं, तो आप लंबी अवधि में बहुत अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।
  • कर लाभ: शेयर बाजार में निवेश से आपको कुछ कर लाभ भी मिल सकते हैं।
  • भावनात्मक संतुष्टि: शेयर बाजार में निवेश करके आपको सफलता और उपलब्धि की भावना प्राप्त हो सकती है।

हालांकि, शेयर बाजार में निवेश जोखिम भरा हो सकता है। इसलिए, निवेशकों को अपने जोखिम सहनशीलता को समझना चाहिए और ऐसा करने से पहले किसी वित्तीय सलाहकार से बात करनी चाहिए।

share market मे निवेश के जोखिम

लेकिन शेयर मार्केट में निवेश करते समय कुछ जोखिम भी होते हैं।

  • अस्थिरता: शेयर बाजार अस्थिर होता है, जिसका अर्थ है कि शेयरों की कीमतें अचानक और तेजी से बढ़ या घट सकती हैं।
  • कंपनी का प्रदर्शन: शेयरों की कीमतें कंपनी के प्रदर्शन से प्रभावित होती हैं। यदि कंपनी अच्छा प्रदर्शन नहीं करती है, तो शेयरों की कीमतें गिर सकती हैं।
  • बाजार जोखिम: पूरे बाजार की स्थिति शेयरों की कीमतों को प्रभावित कर सकती है। यदि बाजार में गिरावट आती है, तो सभी शेयरों की कीमतें गिर सकती हैं, भले ही कंपनियां अच्छा प्रदर्शन कर रही हों।
  • अनुभव की कमी: यदि आपको शेयर बाजार के बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है, तो आप गलत निर्णय ले सकते हैं और पैसे खो सकते हैं।

शेयर बाजार के नियम: सफल निवेशक बनने के लिए 10 महत्वपूर्ण नियम

  1. शिक्षा और जानकारी:
  1. शेयर बाजार में निवेश करने से पहले, बुनियादी बातों को समझना महत्वपूर्ण है।
  2. शेयरों, विभिन्न प्रकार के निवेश, जोखिम प्रबंधन, और बाजार की गतिशीलता के बारे में जानें।
  3. पुस्तकें, लेख, और ऑनलाइन संसाधनों का उपयोग करें।

2. धैर्य और अनुशासन:

  • शेयर बाजार में अमीर बनने में समय लगता है।
  • धैर्य रखें, जल्दबाजी में निर्णय न लें, और अनुशासित तरीके से निवेश करें।
  • भावनाओं में बहकर निवेश न करें।

3. जोखिम प्रबंधन:

  • अपने निवेश के जोखिम को समझें और प्रबंधित करें।
  • एक विविध पोर्टफोलियो बनाएं, जिसमें विभिन्न क्षेत्रों और कंपनियों के शेयर शामिल हों।
  • अपनी जोखिम उठाने की क्षमता से अधिक निवेश न करें।

4. दीर्घकालिक दृष्टिकोण:

  • शेयर बाजार में अल्पकालिक उतार-चढ़ाव से घबराएं नहीं।
  • दीर्घकालिक दृष्टिकोण रखें और कंपनी के मूल सिद्धांतों पर ध्यान केंद्रित करें।
  • अल्पकालिक लाभ के लिए शेयरों को जल्दी न बेचें।

5. गुणवत्तापूर्ण कंपनियों में निवेश:

अच्छी तरह से शोध करें और उन कंपनियों में निवेश करें जिनके पास मजबूत वित्तीय स्थिति, कुशल प्रबंधन, और उज्ज्वल भविष्य हो।
केवल नाम या लोकप्रियता के आधार पर शेयरों में निवेश न करें।

6. भावनाओं पर नियंत्रण:

  • लालच और भय जैसी भावनाओं को अपने निवेश निर्णयों को प्रभावित न करने दें।
  • तर्कसंगत और शांत रहें, और ठोस विश्लेषण के आधार पर निर्णय लें।

7. निवेश पर नज़र रखें:

  • अपने निवेश पर नियमित रूप से नज़र रखें और बाजार की गतिविधियों से अपडेट रहें।
  • आवश्यकतानुसार अपने पोर्टफोलियो को पुनर्संतुलित करें।

8. शुल्कों और करों पर ध्यान दें:

  • विभिन्न प्रकार के शुल्कों और करों के बारे में जानें जो शेयर बाजार में निवेश से जुड़े होते हैं।
  • अपनी निवेश योजना बनाते समय इन कारकों को ध्यान में रखें।

9. पेशेवर सलाह लें:

  • यदि आपको शेयर बाजार के बारे में अनुभव नहीं है, तो योग्य पेशेवर सलाहकार की सहायता लें।
  • वे आपको सही निवेश निर्णय लेने में मदद कर सकते हैं।

10. धोखाधड़ी से सावधान रहें:

  • शेयर बाजार में धोखाधड़ी के कई तरीके होते हैं।
  • अज्ञात व्यक्तियों या संदिग्ध योजनाओं से सावधान रहें।

इन नियमों का पालन करके आप शेयर बाजार में सफल निवेशक बन सकते हैं और अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं
:

विश्व के प्रमुख शेयर बाज़ार

विश्व के प्रमुख शेयर बाज़ार निम्नलिखित हैं:

  • New York Stock Exchange (NYSE): न्यू यॉर्क स्टॉक एक्सचेंज दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे लोकप्रिय स्टॉक एक्सचेंज है। यह न्यूयॉर्क, संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित है। NYSE में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से कई सूचीबद्ध हैं, जिनमें Apple, Microsoft, Amazon, और Alphabet शामिल हैं।
  • NASDAQ Stock Exchange : NASDAQ दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। यह भी न्यूयॉर्क, संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित है। NASDAQ में कई तकनीकी कंपनियां सूचीबद्ध हैं, जिनमें Facebook, Google, और Tesla शामिल हैं।
  • Shanghai Stock Exchange (SSE): शंघाई स्टॉक एक्सचेंज दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। यह शंघाई, चीन में स्थित है। SSE में कई चीनी कंपनियां सूचीबद्ध हैं, जिनमें Alibaba, Tencent, और China Mobile शामिल हैं।
  • Tokyo stock exchange (TSE): टोक्यो स्टॉक एक्सचेंज दुनिया का चौथा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। यह टोक्यो, जापान में स्थित है। TSE में कई जापानी कंपनियां सूचीबद्ध हैं, जिनमें Toyota, Honda, और Sony शामिल हैं।
  • Landon stock exchange (LSE): लंदन स्टॉक एक्सचेंज दुनिया का पाँचवाँ सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। यह लंदन, यूनाइटेड किंगडम में स्थित है। LSE में कई यूरोपीय कंपनियां सूचीबद्ध हैं, जिनमें HSBC, Shell, और British Petroleum शामिल हैं।

इन स्टॉक एक्सचेंजों में दुनिया भर की कंपनियों के शेयरों का कारोबार होता है। ये शेयर बाजार निवेशकों को कंपनियों में हिस्सेदारी खरीदने और बेचने का अवसर प्रदान करते हैं।

शेयर मार्केट होलिडे कब होता है?

भारतीय शेयर बाजार शनिवार और रविवार को बंद रहता है। इसके अलावा, भारतीय शेयर बाजार निम्नलिखित दिनों में भी बंद रहता है:

  • गणतंत्र दिवस (26 जनवरी)
  • स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त)
  • गांधी जयंती (2 अक्टूबर)
  • दिवाली (दीपावली)
  • दशहरा
  • होली
  • ईद-उल-फितर
  • ईद-उल-अधा
  • क्रिसमस

भारतीय शेयर बाजार 2024 में,इन दिनों में बंद रहेगा अधिक जानकारी के लिए यहा क्लिक करे….

शेयर बाजार बंद होने के दिन, निवेशक स्टॉक खरीद या बेच नहीं सकते हैं। हालांकि, वे स्टॉक की कीमतों को ट्रैक कर सकते हैं और अपने निवेश की योजना बना सकते हैं।

शेयर मार्केट को समझने के लिए बेस्ट किताबें

शेयर बाजार को समझने के लिए कई अच्छी किताबें उपलब्ध हैं। यहां कुछ बेहतरीन किताबें दी गई हैं:

The Intelligent Investor द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर

benjamin graham : यह किताब शेयर बाजार में निवेश के बुनियादी सिद्धांतों को समझने के लिए एक उत्कृष्ट मार्गदर्शिका है।

The Dhandon Investor द धन्दों इन्वेस्टर

Rakesh Jhunjhunwala : यह किताब शेयर बाजार में निवेश के अपने दृष्टिकोण के बारे में राकेश झुनझुनवाला के विचारों को प्रस्तुत करती है।

The Rich Dad’s Guide to Investing द रिच डैड्स गाइड टू इन्वेस्टिंग

robert kiyosaki : यह किताब शेयर बाजार में निवेश के लिए एक वित्तीय शिक्षा दृष्टिकोण प्रदान करती है।

trade policy ट्रेडनीति

Yuvraj Kalshetty : यह किताब ट्रेडिंग के सिद्धांतों और तकनीकों को समझने के लिए एक उत्कृष्ट मार्गदर्शिका है।

share market guide शेयर मार्केट गाइड

Sudha Shrimali : यह किताब शेयर बाजार के बुनियादी सिद्धांतों और निवेश के विभिन्न तरीकों को समझने के लिए एक उत्कृष्ट मार्गदर्शिका है।

इन किताबों में से प्रत्येक शेयर बाजार के विभिन्न पहलुओं को कवर करती है, इसलिए आप अपने स्तर और रुचियों के अनुसार एक चुन सकते हैं।ताबें, लेख और ब्लॉग पढ़ सकते हैं। आप ऑनलाइन पाठ्यक्रम भी ले सकते हैं या कार्यशालाओं में भाग ले सकते हैं।

  1. Q.1 भारत में कितने शेयर बाजार हैं?

    Ans. भारत में 23 शेयर बाजार हैं। इनमें से दो राष्ट्रीय स्तर के स्टॉक एक्सचेंज हैं, जिसमे एक बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और दूसरा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE)। इनके अलावा 21 क्षेत्रीय स्टॉक एक्सचेंज (आरएसई) है

  2. Q.2 शेयर मार्किट में निवेश कम से कम कितने पैसों से किया जा सकता है?

    Ans. शेयर मार्किट में निवेश करने के लिए कोई न्यूनतम राशि नहीं है। आप जितने भी पैसे निवेश करना चाहते हैं, कर सकते हैं।

  3. Q.3 क्या शेयर मार्केट जुआ ह ै?

    Ans. शेयर बाजार जुआ नहीं है, लेकिन इसमें जोखिम शामिल है।

  4. Q.4 शेयर बाज़ार कितने प्रकार के होते हैं?

    Ans। शेयर बाज़ार दो प्रकार के होते हैं: प्राथमिक बाज़ार और द्वितीयक बाज़ार।

  5. Q.5 स्टॉक की कीमतें कैसे काम करती हैं?

    Ans. स्टॉक की कीमतें मांग (demand )और आपूर्ति (supply) से निर्धारित होती हैं। जब बेचने वालों की तुलना में खरीदार अधिक होते हैं, तो share की कीमत बढ़ जाती है। जब खरीदारों की तुलना में बेचने वाले अधिक होते हैं, तो share की कीमत कम हो जाती है।

  6. Q.6 शेयर बाज़ार में निवेश के जोखिम क्या हैं?

    Ans. share market मे निवेश करना जोखिम भरा है. क्योंकि स्टॉक मार्केट मे शेयर की कीमतें ऊपर-नीचे होती रहती हैं, अगर आप शेयर की कीमत कम होने पर अपने शेयर बेच देते हैं तो आपका नुकसान हो सकता है।

  7. Q.7 मैं शेयर बाज़ार में निवेश कैसे शुरू करूँ?

    Ans. यदि आप शेयर बाजार में निवेश करने में रुचि रखते हैं, तो आपको demat ब्रोकरेज खाता खोलना होगा। ब्रोकरेज खाता एक प्रकार का खाता होता है जो आपको स्टॉक खरीदने और बेचने की अनुमति देता है।

  8. Q.8 शेयर कब खरीदने चाहिए?

    Ans. -किसी कंपनी के शेयरों में निवेश करने से पहले, कंपनी की वित्तीय स्थिति की समीक्षा करें।
    – कंपनी का उद्योग कैसे प्रदर्शन कर रहा है?
    – शेयर की कीमत। शेयर की कीमत उचित है या नहीं?
    इन कारकों को ध्यान में रखते हुए, आप यह तय कर सकते हैं कि शेयर कब खरीदना है।

यह भी पढे –

How to Invest in Share Market in Hindi

निष्कर्ष

शेयर बाजार आर्थिक विकास का एक महत्वपूर्ण संकेतक है। यह निवेशकों के लिए एक वह साझा मंच है जहाँ पर लोग अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं। शेयर बाजार में निवेश करना एक जोखिम भरा निवेश है, लेकिन यह निवेशकों को अपने धन को बढ़ाने का अवसर भी प्रदान करता है। शेयर बाजार में निवेश करने से पहले, निवेशकों को शेयर बाजार के बारे में अच्छी तरह से समझना चाहिए और अपने जोखिम को उठाने की क्षमता का आकलन जरूर करना चाहिए।

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए कुछ टिप्स: share market मे निवेश में ये सावधानी जरुरी है

  • शेयर बाजार के बारे में अच्छी तरह से समझना चाहिए।
  • एक अच्छे ब्रोकर का चयन करना चाहिए।
  • अपनी निवेश योजना बनानी चाहिए।
  • कंपनी के फंडामेंटल और मैनेजमेंट पर ध्यान दें।
  • शेयर बाजार की प्रवृत्तियों और हालिया समाचारों पर नज़र रखें।
  • अपनी जोखिम लेने की क्षमता का आकलन करना चाहिए।
  • वित्तीय सलाहकार से सहायता लें।
  • दीर्घकालिक निवेश करें।
  • पोर्टफोलियो में विविधीकरण करें।
  • भावनाओं में न बहें ।
  • धैर्य रखना चाहिए।

शेयर बाजार के बारे में ओर अधिक जानकारी के लिए, आप निम्नलिखित वेबसाईट का उपयोग कर सकते हैं:

इस ब्लॉग पोस्ट के जरिए हमने Share Market Kya Hota Hai इसके बारे मे विस्तार से जाना अगर आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे कमेन्ट करके जरूर बताए इसके साथ इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ social media पर जरूर शेयर करे

[ध्यान दें: यह लेख केवल शिक्षात्मक उद्देश्यों के लिए है यह निवेश की सलाह या परामर्श नहीं है। निवेश करने से पहले, कृपया पेशेवर या वित्तीय सलाहकार से सलाह लेने के बाद ही निवेश करे धन्यवाद ।]

Leave a Comment