शेयर बाज़र में IPO क्या है /share market mae ipo kya hai hindi mae /what is ipo in share market in hindi


Table of Contents

     शेयर बाज़र में IPO क्या है हिंदी में

What Is IPO In Share Market Hindi

 IPO In Hindi- आईपीओ क्या है? Share Market Mai Ipo Kya Hai,  Ipo Mai Invest Kasie Kare, Ipo Ki Full Form Kya Hai, Ipo के लाभ, आज हम जानेगे इस पोस्ट के माध्यम से बहुत से लोग अपना पैसा शेयर बाज़र में या ऐसी जगहो पर निवेश करना चाहते जहाँ पर उन्हे अच्छा return मिल सके अगर आप भी स्टॉक मार्किट में इन्वेस्ट कर रहे है या करना चाहते है तो यह जानकारी आपके लिए जिस प्रकार शेयर बाज़र  निवेश करने का तरीका है उसी प्रकार आईपीओ भी invstment करने का एक माध्यम है अब कुछ लोग सोचते है की IPO Hota Kya Hae? IPO Mai Invest Kase Kare ?

IPO – What is an IPO? What is IPO in Share Market? , How to invest in IPO, Full form of IPO, Benefits of IPO, Loss from IPO, Today we will know that through this post many people want to invest their money in share market or in places where they If you are investing in a stock market or want to get a good return, then this information is a way for you to invest in an IPO in the same way as investing in a stock market, now some people think that  What is IPO? and How to Invest in IPO?

तो हैलो दोस्तों स्वागत है आपका मेरे इस ब्लॉग पर आज में आपको बताऊंगा इस आर्टिकल के या पोस्ट के जरिये की IPO Kya hai ?IPO Kya Hota Hai Hindi Mai ?

So Hello friends welcome to my blog today, I will tell you through this article or post that what is IPO? What is IPO in Hindi?
 

IPO:आईपीओ क्या {IPO kya hai}?

जब किसी कंपनी द्वारा अपने शेयर को पहली बार जनता के लिए जारी करता है तो उसे आईपीओ कहते है ipo का मतलब , इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग है ।यह आईपीओ उन लिमिटेड कंपनियों के द्वारा जारी किया जाता है जो व शेयर बाजार में सूचीबद्ध होना चाहती हो ।क्योकि अगर कंपनी शेयर बाज़र में  सूचीबुद्ध नहीं होगी तो उस कंपनी के  शेयर का मोल भाव नहीं होगामतलब उस कंपनी के शेयरो को बेचा या खरीदा नहीं जा सकेगा इसलिए शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद कंपनी के शेयरों को  खरीदा व् बेचा जा सकगा शेयर बाजार में और वो कंपनी भी स्टॉक मार्किट में ट्रेडिंग करने लगेगी ।

What is IPO ?

 When a company issues its shares to the public for the first time, it is called an IPO. IPO stands for Initial Public Offering. This IPO is issued by limited companies that want to be listed on the stock market. Because Of the company is not listed in the stock market, then the shares of that company will not be valued, so the shares of that company cannot be sold or bought, so after the listing on the stock market, the shares of the company can be bought and sold in the stock market And that company will also start trading in the stock market. 

IPO की फुल फॉर्म – इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग{ Initial public offering }

आइये हम इसका सही मतलब समझते है –

* Initial– इसका मतलब शुरुआत है                                                               

*  Public– इसका मतलब जनता से है ,आम जनता से जैसे आप, में या 

* Offering-इसका मतलब है कुछ देना से है मतलब की कंपनी के द्व्रारा निकाले गए आईपीओ को लेक              जनता  को  दिये जाने वाला ऑफर से है 

Full form of IPO – Initial public offering 

{Initial public offering}Let us understand its true meaning –

* Initial – means beginning

* Public- It means public, general public like you, me or

* Offering- It means to give something means that the IPO taken out by the company is from the offer made to the public

 


 IPO लाने का कारण –

 जब किसी कंपनी को अपने व्यापर को बढ़ाने के अधिक पूंजी की या धन आवश्यकता होती है तो वह कंपनी  आईपीओ जारी करती है।और ये कंपनीया आईपीओ को  उस वक्त भी जारी कर सकती है जब उनके पास धन की कमी हो और वह बाजार से कर्ज लेने के बजाय आईपीओ से पैसा जुटाना ज्यादा बेहतर समझती है। यह किसी भी कंपनी की विस्तार योजना होती है। शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद कंपनी अपने शेयरों को अन्य योजनाओं में लगा सकती है।

Reason for bringing IPO –

 When a company needs more capital or money to increase its business, that company issues an IPO. And these companies can issue IPO even when they are short of funds and they can take a loan from the market. Instead of raising money from IPO, it is better. This is the expansion plan of any company. After being listed on the stock market, the company can invest its shares in other schemes.

 IPO के लाभ-

 IPO में निवेशक की तरफ से लगाई गई पूंजी सीधे कंपनी के पास जाती है। हालांकि विनिवेश के मामले में आईपीओ से जो भी पूंजी या धन प्राप्त होता है वह धन सीधे सरकार के पास जाता  है।  यदि एक बार कंपनी के शेयरों को  ट्रेडिंग करने की इजाजत मिल जाती तो फिर उन्हे  खरीदा व्  बेचा जा सकता हऔर हां एक बात का  जरूर याद रखें की शेयर को खरीदने और बेचने से होने वाले लाभ और हानि की जिम्मेदारी निवेशक की होती है

Benefits of IPO

 The capital invested by the investor in the IPO goes directly to the company. However, in case of disinvestment, whatever capital or money is received from the IPO goes directly to the government. Once the shares of the company are allowed to be traded, then they can be bought and sold and yes one thing must be remembered that the investor is responsible for the profit and loss of buying and selling the shares.

IPO से हानि –

क्या आप जानते है की आईपीओ एक जोखिम बारे निवेश है आईपीओ में आप अपनी मर्जी के हिसाब शेयर नहीं खरीद सकते क्योकि आईपीओ में लोट के हिसाब से शेयर खरीदने व् बेचने इसमे एक लोट कितने भी पैसे का हो सकता है क्योकि इसमें शेयर का दाम कंपनी का मालिक तय करता है आईपीओ से आप पैसे कमा सकते लेकिन ज्यादा नहीं कमा सकते 

Loss from IPO –

Do you know that an IPO is a risk-related investment? In an IPO, you cannot buy shares according to your wish, because in the IPO, buying or selling shares according to the lot can be a lot of money In this, because the share price in the company can be The owner decides that you can make money from the IPO but you cannot earn much.

IPO में  निवेश कैसे करें:{ IPO mai invest kase kare}-

 किसी भी कंपनी के आईपीओ में निवेश करने से पहले उस कंपनी के बारे में जान ले की कंपनी की मार्किट रेपुटेशन कैसी है वह  कंपनी  किस चीज का उत्पादन करती और कंपनी के बारे और भी जानकारी प्राप्त करने के बाद जब आप आईपीओ खरीदने के लिए किसी कंपनी का चयन करते हैं तो सबसे पहले आपको अपना बेस्ट ब्रोकर चुनना  चाहिए। और कोशिश करें कि ब्रोकर के साथ मिलकर ही कंपनी का चयन करें। जो कंपनीं आप चुन रहे हैं उससे तीन-चार अन्य कंपनियों की भी तुलना करें। कुछ दिन तक उन  सभी कंपनियों की प्रगति को देखने के बाद ही निवेश करें। कंपनी के आईपीओ की कीमत भी देखें, बाजार में लोगो से कंपनी के बारे में जाने और दूसरे निवेशकों से कंपनी के आईपीओ को लेकर जानकारी लेते रहें वैसे तो आईपीओ एक जोखिम भरा निवेश माना गया है, क्योंकि IPO में निवेश करना सभी निवेस्को के बस की बात नहीं क्योकि इसमें कंपनी के शेयरों की प्रगति के संबंध में कोई आंकड़े या जानकारी लोगों के पास नहीं होती है, अगर आपको शेयर बाजार में भविष्य बनाना है तो आपको आईपीओ की जानकारी होनी ही चाहिए 

How to invest in IPO –

 Before investing in an IPO of any company, know about the company, how is the market reputations of the company, what does that company produce and after getting more information about the company, when you buy a company to buy an IPO. If you choose, then you should first choose your best broker. And try to choose the company only with the broker. Compare three to four other companies with the company you are choosing. Invest only after watching the progress of all those companies for a few days. See also the price of the company’s IPO, keep the information about the company from the people in the market and keep taking information about the company’s IPO from other investors, though the IPO is considered a risky investment, because investing in an IPO is all for Niveso’s bus It does not matter because people do not have any data or information regarding the progress of the company’s shares, if you want to make a future in the stock market, then you must know about the IPO.

 



Leave a Comment